Fire has No shadow : why ? आग की कोई छाया नहीं होती : Big Update 2024

VIJAY
5 Min Read

Fire has No shadow : आग का प्रकाश एवं उसके गौरव के बारे में हम सभी अच्छी तरह से जानते हैं, लेकिन क्या आपने कभी ध्यान दिया है कि आग के पास कोई छाया क्यों नहीं होती है? यह वास्तव में अद्भुत है कि आग जितना प्रकाश फैलाती है, उतना ही छाया नहीं प्रस्तुत करती है। इस प्रश्न का समाधान विज्ञान की दृष्टि से उत्तरित किया जा सकता है।

Fire has No shadow

पहले देखा जाता है Fire has No shadow : कि क्या आग सचमुच में छाया नहीं देती है? वास्तव में, यह सत्य है। आग के किसी भी प्रकार का छायांकन नहीं होता है। जब हम आग को देखते हैं, हम सिर्फ आग के सूर्यमुखी और ऊँचे भाग को देख सकते हैं, जिसमें उसकी प्रकारित रौशनी और उच्च तापमान होती है। इसी कारण आग का छायांकन नहीं होता है।

इसके पीछे का कारण विज्ञान में आधारित है। छाया उत्पन्न होने के लिए एक प्रकाश स्रोत की जरूरत होती है, जो किसी वस्तु से प्रकाश को रोक या धकेलता है, और तब केवल छाया पैदा होती है। आग में कोई ऐसा धारक नहीं होता है जो प्रकाश को रोके या धकेले, इसलिए आग की छाया नहीं होती है।

Fire has No shadow : About

आग में छाया की अभाव का एक अन्य कारण यह है कि आग एक प्रकाशमान तत्व है, जिसमें ऊर्जा का विकल्प होता है और जिसमें ज्योति की परतों की आवश्यकता नहीं होती है। अतः, जब आग जलती है, तो उसका प्रकाश सभी दिशाओं में फैलता है और किसी वस्तु से उसकी प्रकाशिकता को रोकने का कोई कारक नहीं होता है।

Fire has No shadow

एक और समझने योग्य तथ्य है कि आग उच्च तापमान पर होती है, और इसलिए यह प्रकाशमान वस्तु होती है। ऊचे तापमान के कारण, आग से उच्च तापमान फिर किसी अन्य वस्तु की सतह पर उष्णता का आधान होता है। इस ऊष्णता के कारण, छाया की उत्पत्ति नहीं होती है, क्योंकि वस्तु के पास उष्णता के कारण छाया का आधान किया जाता है और यह वस्तु के पीछे छाया उत्पन्न करती है।

अतः, आग में छाया की अभाव का मुख्य कारण होता है उसकी उच्च तापमान और वहाँ कोई धारक नहीं होता है जो प्रकाश को रो

के या धकेले। इसके अलावा, आग का प्रकाश उच्च तापमान के कारण बहुत ही तेज होता है, जिससे कि आग की प्रकाशिकता अधिक होती है और यह सभी दिशाओं में फैलती है। इसी वजह से आग का प्रकाश स्थाई और नियमित नहीं होता है, और इसका कोई निश्चित आकार भी नहीं होता है, जिससे कि उसकी छाया का उत्पन्न होना संभव नहीं होता है।

इस रूप में, हम देखते हैं कि आग का प्रकाश और छाया की अभाव के बीच गहरा संबंध होता है। आग एक अद्वितीय प्रकार की प्रकाशमान वस्तु है जिसमें छाया की अभाव होती है। इस अद्भुत गुणधर्म के कारण ही हम देखते हैं कि आग का प्रकाश और छाया का अभाव होता है।

आग का छाया न होने का विज्ञानिक कारण होता है कि आग एक प्रकाशमान तत्व होता है, जिसमें छाया की अभाव होती है। छाया का उत्पन्न होने के लिए एक प्रकाश स्रोत की जरूरत होती है, जो किसी वस्तु से प्रकाश को रोक या धकेलता है, और तब केवल छाया पैदा होती है। आग में कोई ऐसा धारक नहीं होता है जो प्रकाश को रोके या धकेले, इसलिए आग की छाया नहीं होती है।

इसके अलावा, आग उच्च तापमान पर होती है, और इसलिए यह प्रकाशमान वस्तु होती है। ऊचे तापमान के कारण, आग से उच्च तापमान फिर किसी अन्य वस्तु की सतह पर उष्णता का आधान होता है। इस ऊष्णता के कारण, छाया की उत्पत्ति नहीं होती है, क्योंकि वस्तु के पास उष्णता के कारण छाया का आधान किया जाता है और यह वस्तु के पीछे छाया उत्पन्न करती है।

अतः, आग में छाया की अभाव का मुख्य कारण होता है उसकी उच्च तापमान और वहाँ कोई धारक नहीं होता है जो प्रकाश को रोके या धकेले। इसके अलावा, आग का प्रकाश उच्च तापमान के कारण बहुत ही तेज होता है, जिससे कि आग की प्रकाशिकता अधिक होती है और यह सभी दिशाओं में फैलती है। इसी वजह से आग का प्रकाश स्थाई और नियमित नहीं होता है, और इसका कोई निश्चित आकार भी नहीं होता है, जिससे कि उसकी छाया का उत्पन्न होना संभव नहीं होता है।

Also Read :

Share this Article
Leave a comment